Monday , July 22 2024

Google क्रोम को लेकर सरकार ने दी कुछ चेतावनी, जानें क्या

इंटरनेट के विकास के साथ इससे जुड़े खतरे भी बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप ज्यादा सुरक्षित रहे। भारत सरकार भी इसके लिए हमेशा कोशिश करती रहती है, ताकि नागरिकों के साइबर अटैक से बचाया जा सकें। इसी सिलसिले को जारी रखते हुए भारत सरकार ने एक नई चेतावनी दी है।

इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT-IN) ने गूगल क्रोम यूजर्स के लिए एक नई चेतावनी जारी की है। इस सरकारी निकाय ने बताया है कि उन्हें Google Chrome वेब ब्राउजर के कुछ वर्जन में नए सुरक्षा मुद्दे मिले हैं जो यूजर्स के डेटा और जानकारी को खतरे में डाल सकते हैं।

गंभीर है समस्या

सरकार ने इस बताया कि यह समस्या बहुत गंभीर है और रिपोर्ट किया है कि अगर इन कमजोरियों का शोषण किया जाता है, तो रिमोट हमलावरों को लक्षित सिस्टम पर मनमाना कोड निष्पादित करने की अनुमति मिल सकती है।

Google Chrome के ये वर्जन होंगे प्रभावित

अगर आप  Mac और Linux का इस्तेमाल करते हैं तो बता दें कि इसके 114.0.5735.133 से पहले के वर्जन प्रभावित होंगे। जबकि विंडोज के लिए 114.0.5735.133/134 से पहले के वर्जन प्रभवित है। 

Google Chrome में क्यों होती है समस्या

रिपोर्ट के अनुसार, ये कमजोरियां क्रोम के भीतर कई मुद्दों से आती हैं, खासकर ऑटोफिल भुगतान, WebRTC और WebXR में मुफ्त वर्जन और V8 में टाइप कन्फ्यूजन के कारण होती है। इन कमजोरियों का प्रभाव तब हो सकता है जब कोई यूजर अनजाने में हमले को ट्रिगर करने के लिए डिजाइन किए गए और विशेष रूप से तैयार किए गए वेब पेज पर जाता है।

संभावित हमलों से स्वयं को बचाने के लिए, सभी Google Chrome यूजर्स के लिए तत्काल कार्रवाई करना जरूरी है। यहां वे तरीके बताए गए हैं जिनका आप प्रयोग कर सकते हैं।

Google क्रोम अपडेट करें

सरकार ने Google Chrome यूजर्स को सलाह दी है कि वे अपने Google Chrome ब्राउजर को तुरंत लेटेस्ट वर्जन में अपडेट करें। इसके लिए आधिकारिक Google क्रोम वेबसाइट पर जाएं या उपलब्ध लेटेस्ट वर्जन को इंस्टॉल करने के लिए ब्राउजर की इन-विल्ड अपडेट सुविधा का उपयोग करें।

Mac और Linux के लिए वर्जन 114.0.5735.133 और Windows के लिए वर्जन 114.0.5735.133/134 में अपडेट करने की सलाह दी जाती है। इन अपडेट वर्जन में पैच होते हैं, जो पहचानी गई कमजोरियों को संबोधित करते हैं।

सुरक्षित रहने के लिए कर सकते हैं ये काम

अपडेट की करें जांच: यह सुनिश्चित करने के लिए कि भविष्य के सुरक्षा पैच और बग फिक्स तुरंत इंस्टॉल किए गए हैं, Google क्रोम क्रोम सेटिंग्स में ऑटोमेटिक अपडेट सक्षम करें। सुरक्षित ब्राउजिंग अनुभव बनाए रखने के लिए ब्राउजर को अपडेटेड रखना जरूरी है।

ब्राउजिंग करते समय सावधानी बरतें: वेब नेविगेट करते समय सतर्क रहें और अपरिचित या संदिग्ध वेबसाइटों पर जाने से बचें। अविश्वसनीय स्रोतों से लिंक पर क्लिक करने या फाइलों को डाउनलोड करते समय विशेष रूप से सतर्क रहें, क्योंकि इससे संभावित रूप से मैलवेयर या फिशिंग प्रयासों का जोखिम हो सकता है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com