Friday , June 21 2024

शनि-मंगल की युति का कुछ राशि के जातकों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा, जानें इन राशियों के बारे में-

षडाष्टक योग शनि और मंगल की युति से बनने वाले सबसे अशुभ योगों में से एक है। शनि के साथ छठे भाव में मौजूद मंगल और इन दोनों ग्रहों की युति इस अशुभ योग के निर्माण का कारण है। शनि और मंगल शत्रु ग्रह हैं, जबकि शनि दरिद्रता का कारक है और मंगल सभी हिंसा और संघर्षों के लिए जिम्मेदार है। यह योग 30 जून 2023 तक रहेगा। इन दोनों की युति कुछ राशियों पर नकारात्मक प्रभाव डालेगी। जानें इन राशियों के बारे में-

कर्क राशि- षडाष्टक योग का बनना कर्क राशि के जातकों के लिए हानिकारक साबित होगा। मंगल की उपस्थिति इनके जीवन में परेशानी और अस्थिरता पैदा कर रही है। जातकों को सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि यह अवधि स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं ला सकती है। किसी से बहस या झगड़ा नहीं करना चाहिए। जातकों को सलाह दी जाती है कि वे सकारात्मक और विनम्र बने रहें। अपने पैसे पर भी नजर रखनी चाहिए और खुद को फिजूलखर्ची से रोकना चाहिए। जातकों को भगवान शिव की पूजा करने की सलाह दी जाती है।

सिंह राशि- सिंह राशि के जातकों के लिए षडाष्टक योग का बनना अशुभ है। उन्हें आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है और अनावश्यक खर्चे बढ़ सकते हैं। उन्हें अनचाही यात्राएं करनी पड़ सकती हैं जो थकाऊ साबित होंगी। जातकों को जीवन में आ रही बाधाओं के कारण तनाव का सामना करना पड़ेगा और उनके माता-पिता का स्वास्थ्य भी बिगड़ सकता है। आप विवादों में दखल दे सकते हैं, चाहे आप उनसे बचने की कितनी भी कोशिश कर लें। आपको सलाह दी जाती है कि कोई भी वाहन चलाते समय सुरक्षा और सावधानी बरतें क्योंकि दुर्घटनाएं हो सकती हैं।

धनु राशि- षडाष्टक योग का बनना अशुभ है और धनु राशि के जातकों के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकता है। आपको अपना पैसा किसी को उधार नहीं देना चाहिए और कोई नया निवेश नहीं करना चाहिए क्योंकि आपको आर्थिक नुकसान हो सकता है। इस राशि के जातकों को सलाह दी जाती है कि समय अनुकूल नहीं होने के कारण कोई भी नया काम शुरू न करें। आपको सलाह दी जाती है कि आप अपने ससुराल पक्ष से कोई आर्थिक लेन-देन न करें और जीवनसाथी के साथ किसी भी तरह के विवाद से बचें। 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com