Thursday , April 18 2024

जल्द ही 200 करोड़ वैक्सीन का लक्ष्य हासिल करने वाला है भारत, बूस्टर डोज के लिए चला रहा महाभियान 

भारत जल्द ही 200 करोड़ वैक्सीन का लक्ष्य हासिल करने वाला है। भारत जैसे देश में ये लक्ष्य आसान नहीं था मगर बेहतर मैनेजमेंट से ये लक्ष्य हासिल होने जा रहा है। देश में कोरोना टीकाकरण का आंकड़ा 200 करोड़ डोज के करीब पहुंच गया है। पिछले साल 16 जनवरी को कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था। कोविन पोर्टल मुताबिक, सुबह 10 बजे तक के आंकड़े के अनुसार अब तक कुल 199.98 करोड़ से अधिक डोज लगा दी गई है। देर रात तक अंतिम आंकड़े आने पर इसके 200 करोड़ डोज तक पहुंच जाने का अनुमान है।

बता दें कि वैक्सीनेशन के मामले में चीन के बाद भारत दूसरे स्थान पर है। इसके साथ ही भारत कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सबसे सुरक्षित देशों की लिस्ट में शामिल हो गया है। देश में जनवरी 2021 में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था। 18 महीनों में भारत ने 200 करोड़ वैक्सीन लगाकर इतिहास रच देगा।

jagran

केंद्र सरकार ने 15 जुलाई से ही 18 से 59 वर्ष आयुवर्ग के लोगों को सरकारी केंद्रों पर मुफ्त सतर्कता डोज लगाने का विशेष अभियान शुरू किया है। अभियान के पहले दिन करीब 15 लाख डोज लगाई गई। इनमें से ज्यादातर लोगों को 75 दिन के विशेष अभियान ‘कोरोना टीकाकरण अमृत महोत्सव’ के तहत डोज दी गई है। मंत्रालय ने बताया कि 18 से 59 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को अब तक कुल 1.06 करोड़ सतर्कता डोज लगाई गई है। 60 वर्ष की आयु से अधिक के लोगों को टीके की 2.81 करोड़ डोज दी जा चुकी है। 12 से 14 वर्ष के 3.79 करोड़ बच्चों को पहली डोज दी जा चुकी है जबकि 15 से 18 आयु वर्ग के 6.08 करोड़ से अधिक किशोरों को पहली डोज लगाई जा चुकी है।

पिछले साल 16 जनवरी से शुरु हुआ था टीकाकरण अभियान

पिछले साल 16 जनवरी से स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाने के साथ टीकाकरण अभियान के पहले चरण की शुरुआत हुई थी। उसी साल दो फरवरी से दूसरा चरण शुरू हुआ था, जिसमें फ्रंटलाइन वर्कर टीकाकरण अभियान में शामिल किया गया था। टीकाकरण का अगला चरण पिछले साल ही एक मार्च को शुरू हुआ था। इसमें 60 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों और 45 साल से अधिक उम्र के पहले से गंभीर बीमारी से ग्रस्त लोगों को टीका लगाना शुरू किया गया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com