Friday , June 21 2024

बर्थ कंट्रोल लेने के बाद भी कुछ महिलाओं के पीरियड मिस हो सकते हैं, आगे जानते हैं इस समस्या के कारण-

आज के समय में बर्थ कंट्रोल तकनीक को बड़ी संख्या में अपनाया जाने लगा है। इसका एक बड़ा कारण यह भी है कि लोग अब सीमित परिवार के प्रति जागरूक हो गए हैं। इसके अलावा, महिला अनचाहे गर्भ से बचने के लिए भी इस तरह की पिल्स का सहारा लेती है। लेकिन, कई बार बर्त कंट्रोल पिल्स लेने के बाद भी कुछ महिलाओं के पीरियड्स मिस हो जाते हैं। इस दौरान महिलाओं को चिंता होने लगती है, साथ ही उनको डॉक्टर के पास जाना पड़ता है। साईं पॉलिक्लीनिक की वरिष्ठ स्री रोग विशेषज्ञ डॉ. विभा बंसल से जानते हैं बर्थ कंट्रोल लेने के बाद भी महिलाओं के पीरियड मिस क्यों होते हैं।

बर्थ कंट्रोल लेने के बाद भी पीरियड्स क्यों मिस होते हैं? 

हार्मोनल असंतुलन

हार्मोनल गर्भनिरोधक शरीर के हार्मोन के स्तर, मुख्य रूप से एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन को कंट्रोल करके काम करते हैं। हालांकि, हार्मोनल बर्थ कंट्रोल तकनीक के साथ भी, हार्मोनल असंतुलन हो सकता है, जिससे पीरियड्स मिस हो सकते हैं। तनाव, बीमारी, तेजी से वजन में परिवर्तन, या अन्य दवाएं जैसे कारक बर्थ कंट्रोल तकनीक को प्रभावित कर सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप हार्मोनल उतार-चढ़ाव होते हैं जो मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करते हैं।

पिल्स लेने का निर्धारित समय न होना

गर्भनिरोधक पिल्स लेने वालों को दवा एक ही समय में लेने की सलाह दी जाती है। गोलियां लेना, उन्हें अनियमित अंतराल पर लेना, या समय पर एक नया पैक शुरू करना भूल जाना, हार्मोन के स्तर को बाधित कर सकता है। जिसकी वजह से पीरियड्स मिस हो सकते हैं। यदि पीरियड्स मिस हो जाते हैं, तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

बर्थ कंट्रोल लेने के बाद शरीर में बदलाव

बर्थ कंट्रोल की किसी नई विधि को अपनाने के बाद शरीर में कुछ बदलाव होते हैं। दरअसल, इस विधि के लिए शरीर खुद को तैयार करता है। इस दौरान महिलाओं को पीरियड्स अनियमित होना या पीरियड मिस होना एक आम समस्या है। आमतौर पर, ये अनियमितताएं कुछ महीनों के भीतर ठीक हो जाती हैं क्योंकि शरीर गर्भनिरोधक तकनीक के अनुकूल हो जाता है। हालांकि, अगर अनियमितताएं बनी रहती हैं या चिंता का कारण हो सकती हैं।

मेडिकल कंडीशन

महिलाओं की कुछ मेडिकल कंडीशन भी पीरियड्स को प्रभावित कर सकती हैं। पीसीओएस, थायराइड व बर्थ कंट्रोल के बाद हार्मोनल असंतुलन के कारण कुछ महिलाओं के पीरियड्स मिस हो सकते हैं। यदि महिला को यह समस्या लगातार या हर महिने हो रही है, तो ऐसे में उन्हें डॉक्टर के पास ले जाएं। 

एक्टोपिक प्रेग्नेंसी 

कई बार पिल्स को लेने में देरी हो जाती है, ऐसे में कुछ मामलों में एक्टोपिक प्रेग्नेंसी हो सकती है। इस दौरान भी महिलाओं के पीरियड्स मिस हो सकते हैं। इस दौरान महिलाओं को तेज पेट दर्द महसूस होता है। कुछ मामलों में लगातार ब्लीडिंग भी होती है। यह एक प्रेग्नेंसी से जुड़ी समस्या है, जिसमें भी महिलाओ के पीरियड् मिस हो जाते हैं।

महिलाओं को बर्थ कंट्रोल लेते समय कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यदि, उनको किसी भी तरह की परेशानी हो रही है तो ऐसे में उन्हें तुरंत किसी स्री रोग विशेषज्ञ से तुरंत मिलाएं। 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com