Friday , July 12 2024

विटामिन ए हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी, जानें इसकी कमी के लक्षण और स्त्रोत.. 

स्वस्थ रहने के लिए शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन्स और मिनरल्स जैसे पोषक तत्वों की जरूरत होती है। शरीर में किसी भी पोषक तत्व की कमी हो जाने पर कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। हमारे स्वास्थ्य के लिए विटामिन ए भी बहुत जरूरी होता है। विटामिन ए हमारे दिल, मस्तिष्क, फेफड़ों और इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाता है। विटामिन ए में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स कोशिकाओं को ऑक्सीडेटिव डैमेज से बचाने में मदद करते हैं। जब शरीर में विटामिन ए की कमी होती है, तो इससे कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। विटामिन ए की कमी होने पर शरीर में कई लक्षण नजर आते हैं। तो चलिए विस्तार से जानते हैं शरीर में विटामिन ए की कमी होने पर कौन-कौन से लक्षण नजर आ सकते हैं और इसकी कमी को कैसे पूरा किया जा सकता है – 

विटामिन ए की कमी के लक्षण – 

त्वचा में रूखापन या खुजली होना 

विटामिन ए त्वचा की कोशिकाओं के निर्माण और मरम्मत के लिए जिम्मेदार होता है। शरीर में विटामिन ए की कमी से आपकी त्वचा बहुत ज्यादा ड्राई हो सकती है। अगर आपकी त्वचा में बहुत ज्यादा रूखापन है या खुजली की समस्या है, तो ये विटामिन ए की कमी का संकेत हो सकता है। इसकी कमी से त्वचा में सूजन भी रह सकती है। विटामिन ए की कमी से एक्जिमा जैसी स्किन संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं। 

आंखों से जुड़ी समस्याएं 

विटामिन ए की कमी की वजह से आंखों से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। आंखों की रोशनी कमजोर होना, सूखी आंखें, आंखों में आंसू पैदा नहीं होना,आंखों में खुजली होना विटामिन ए की कमी के लक्षण हैं। अगर सही समय पर इलाज नहीं किया गया, तो इसके कारण अंधापन और रतौंधी रोग होने का जोखिम बढ़ सकता है। 

प्रजनन क्षमता कम होना

विटामिन ए की कमी से इनफर्टिलिटी की समस्या भी हो सकती है। विटामिन ए प्रजनन क्षमता के लिए महत्वपूर्ण है। इसकी कमी होने पर गर्भधारण करने में समस्या हो सकती है।  विटामिन ए में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं। अगर आपको गर्भधारण करने में समस्या हो रही है, तो यह विटामिन ए की कमी का संकेत हो सकता है। 

शरीर का विकास रुकना

विटामिन ए हमारे संपूर्ण शरीर के विकास के लिए बहुत जरूरी है। विटामिन ए की कमी के कारण बच्चों का विकास सही से नहीं हो पाता है। जिन बच्चों में विटामिन ए की कमी होती है, उनकी हड्डियों का विकास रुक जाता है। 

बार-बार संक्रमण होना

विटामिन ए हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम यानी प्रतिरक्षा प्रणाली को स्वस्थ रखने में मदद करता है। विटामिन ए की कमी के कारण आपको बार-बार संक्रमण हो सकता है। अगर आपको लगातार सर्दी जुकाम की समस्या बनी रहती है या बार-बार गले में संक्रमण हो जाता है, तो ये विटामिन ए की कमी का संकेत हो सकता है।

घाव भरने में समय लगना 

विटामिन ए त्वचा के लिए बहुत जरूरी विटामिन ए विटामिन ए त्वचा में कोलेजन के निर्माण को बढ़ावा देता है और कोशिकाओं की मरम्मत में मदद करता है। विटामिन में घाव को जल्दी भरने में मदद करता है। अगर किसी सर्जरी या चोट के बाद आपके घाव नहीं भर रहे हैं, तो ये विटामिन ए की कमी का संकेत हो सकता है। 

विटामिन ए के सोर्स –

विटामिन ए की कमी को पूरा करने के लिए आपको अपनी डाइट में गाजर, चुकंदर, टमाटर, हरी पत्तेदार सब्जियां, शलजम, पालक, सोयाबीन, पपीता, आम, तरबूज, चीकू, राजमा, बींस, दूध, पनीर, अंडा और दही आदि शामिल करना चाहिए। 

अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण महसूस हो, तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। इस स्थिति में आप विटामिन ए की जांच करवा सकते हैं। विटामिन ए की कमी होने पर इसे हेल्दी डाइट और सप्लीमेंट के जरिए पूरा किया जा सकता है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com