Wednesday , June 19 2024

बच्चों को ठंड से बचाने के लिए पैरेंट्स को रखना चाहिए किन बातों का ध्यान, आइए जानते हैं .. 

बदलते मौसम का सबसे पहला असर बच्चों की कमजोर इम्यूनिटी पर पड़ता है। इस मौसम में बच्चों में मौसमी बुखार, सर्दी, खांसी, जुकाम जैसे इन्‍फेक्‍शन वाले रोग होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है। ऐसे में माता-पिता की जिम्मेदारी बनती है कि वे इस मौसम में अपने बच्चों की सेहत का खास ख्याल रखें। आइए जानते हैं बच्चों को ठंड से बचाने के लिए पैरेंट्स को रखना चाहिए किन बातों का ध्यान।

फ़ाइबर युक्त आहार –
अच्छे पाचन और बच्चों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए उनकी डाइट में फ़ाइबर युक्त खाद्य पदार्थ शामिल करें। यह उनकी पाचन क्रिया का समर्थन करेगा और वे बीमार नहीं पड़ेंगे। 

गर्म कपड़े पहनाकर रखें –
बच्चों को ठंड से बचाए रखने के लिए गर्म कपड़े जरूर पहनाएं। कैप, मोजे, स्वेटर आदि चीजें उन्हें सर्द हवाओं से बचाने का काम करेंगी। 

पूरी नींद है जरूरी-
पूरी नींद नहीं लेने से सर्दी जुकाम होने की समस्या अधिक हो सकती है। 5 से 13 साल के बच्चों को 9 से 11 घंटे की नींद लेनी चाहिए। अगर पूरी नींद लेंगे तो उनकी इम्यूनिटी भी मजबूत बनेगी। 

सब्जियां और फल खिलाएं –
संक्रमण से लड़ने के लिए पोषक तत्व की जरूरत होती है। बच्चों को भरपूर पोषण वाली सब्जियां और फलों का सेवन जरूर कराएं । 

सर्दी लगने पर आजमाएं ये घरेलू उपाय-
बच्चों को दें भाप-

नासिक मार्ग में म्‍यूकस को ढीला करने के लिए भाप लेना सबसे असरकारी तरीका है। 6 महीने से कम उम्र के शिशु के लिए बाथरूम में गर्म पानी को नल से बहने दें और शिशु को बाथरूम में 10 से 15 मिनट तक लेकर बैठ जाएं। एक साल से अधिक उम्र के बच्‍चों के लिए गर्म पानी में यूकेलिप्‍टस ऑयल की कुछ बूंदें भी डाल सकते हैं।

हल्दी वाला दूध-
सर्दी-ज़ुकाम से निजात दिलाने के लिए बच्चे को दूध में हल्दी मिलाकर पिलाएं। इसके लिए दूध में हल्दी डालकर गर्म कर लें और गुनगुना रह जाने पर बच्चे को पिलाएं। अगर इसके लिए कच्ची हल्दी का इस्तेमाल करेंगे और भी बेहतर होगा।

सर्दी का इलाज नमक के पानी के गरारे-
दो साल से अधिक उम्र के बच्‍चे को नमक के पानी से गरारे करवाएं। इसके लिए एक कप गुनगुने पानी में आधा चम्‍मच नमक डालें और बच्‍चे को गरारे करने के लिए कहें।

जुकाम के लिए सरसों का तेल-
साल भर के बच्‍चे के लिए जुकाम के इलाज के लिए सरसों का तेल भी बहुत असरकारी नुस्‍खा है। एक चम्‍मच सरसों का तेल लें और उसमें 1 लहसुन की कली और लौंग डालकर एक चुटकी अजवाइन का पाउडर मिलाएं। इन सब चीजों को एक मिनट तक गर्म करें। ध्यान रखें, लहसुन जलना नहीं चाहिए। अब इसे छन्‍नी से छान लें। इस मिश्रण के गुनगुना होने पर बच्‍चे की छाती और पीठ की मालिश करें।

खांसी, जुकाम और कफ होने पर अदरक-
बच्‍चों को खांसी, जुकाम और कफ जमने की शिकायत होने पर अदरक का इलाज काफी असरदार है। ये शरीर को गर्म करके बलगम को पिघला देती है। दो साल से अधिक उम्र के बच्‍चे को अदरक की चाय पिलाएं। आधा इंच की अदरक लें और एक कप पानी में इसे 5 मिनट तक उबालें। इसके बाद पानी को छानकर उसमें आधा चम्‍मच नींबू का रस और एक चम्‍मच शहद मिलाकर गुनगुना पानी बच्‍चे को पिलाएं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com