Thursday , June 13 2024

कैसे करें एक्सपायर्ड ब्यूटी प्रोडक्ट्स की पहचान आइए जान लें यहां इसके बारे में..

हर एक प्रॉडक्ट की तरह ब्यूटी प्रोडक्ट्स की भी शेल्फ लाइफ होती है। शेल्फ लाइफ का मतलब वह टाइम पीरियड होता है जब तक उसका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बाद उस प्रोडक्ट का इस्तेमाल स्किन के लिए नुकसानदायक हो सकता है। कैसे करें एक्सपायर्ड ब्यूटी प्रोडक्ट्स की पहचान आइए जान लें यहां इसके बारे में।

बाजार से खाने-पीने की चीज़़ें खरीदने से पहले अगर आप जागरूक ग्राहक हैं, तो आई एम स्योर सबसे पहले आप एक्सपायरी डेट चेक करती होंगी। वैसे ही दवाइयां खरीदते वक्त भी, लेकिन क्या आप यही जागरूकता मेकअप प्रोडक्ट्स के साथ भी दिखाती हैं? ज्यादातर महिलाओं का जवाब होगा ‘नहीं’ और ये बात काफी हद तक सच भी है। लिपस्टिक, मस्कारा, लाइनर, आईशैडो या काजल, जब तक इनका डिब्बा पूरी तरह से खाली नहीं हो जाता, तब तक हम इन्हें इस्तेमाल करते रहते हैं। अगर आप भी इनमें से एक हैं, तो जान लें कि एक्सपायरी डेट निकल जाने के बाद सिर्फ खाने-पीने और दवाइयों का इस्तेमाल ही नुकसानदायक नहीं होता, बल्कि मेकअप प्रोडक्ट्स पर भी ये बात लागू होती है। 

हर एक प्रॉडक्ट की तरह मेकअप की भी एक शेल्फ लाइफ होती है। शेल्फ लाइफ का मतलब वह टाइम पीरियड है, जब तक उसका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बाद वह प्रॉडक्ट खराब हो जाता है। एक तरह से यह एक्सपायरी डेट ही होती है।

कई प्रॉडक्ट्स ऐसे होते हैं, जिन पर कोई एक्सपायरी डेट नहीं लिखी होती, लेकिन उनकी शेल्फ लाइफ जरूर होती है, तो ऐसे प्रोडक्ट्स को शेल्फ लाइफ को ध्यान में रखते हुए ही इस्तेमाल करें। डेट एक्सपायर हो जाने के बाद स्किन पर इस्तेमाल किए जाने वाले प्रोडक्ट्स आपकी स्किन को डैमेज कर सकते हैं। इसके इस्तेमाल से चेहरे पर मुंहासे, स्किन का लाल पड़ना, रोमछिद्रों का बंद होना और स्किन इंफेक्शन होने का खतरा रहता है। बेहतर होगा कि आप प्रोडक्ट्स के बाहरी पैकिंग पर लिखी डेट चेक कर लें और अगर गलती से आपने इसे फेक दिया और प्रोडक्ट पर कहीं भी एक्सपायरी डेट का नामो-निशान नहीं, तो इन तरीकों से पहचान सकते हैं कि आपका मेकअप प्रोडक्टस हो चुका है एक्सपायर। 

एक्सपायर्ड मेकअप प्रोडक्ट्स की पहचान

एक्सपायर्ड मेकअप प्रोडक्ट्स की बनावट, रंग और गंध बदल जाती है। जानें, एक्सपायर्ड मेकअप प्रॉडक्ट की पहचान और उसके इस्तेमाल के नुकसान

1. लिपस्टिक

शेल्फ लाइफ: लगभग 2 साल

एक्सपायर होने की पहचान

– मोम जैसी बदबू आना।

– लिपस्टिक के ऊपर सिरे पर मॉइश्चर की बूंदें जमा होना।

– लिपस्टिक के ऊपर सफेद लेयर जैसा नजर आने लगे।

नुकसान

– लिपस्टिक एक्सपायर हो जाने पर ज्यादा देर तक होठों पर नहीं टिकती और न ही ठीक से अप्लाई होती है।

– ऐसी लिपस्टिक लगाने पर होठों पर जलन और सूजन की समस्या हो सकती है।

2. मस्कारा और आईलाइनर

शेल्फ लाइफ: 3 से 6 महीने

एक्सपायर होने की पहचान

– लिक्विड पूरी तरह से सूख जाता है या फिर गाढ़ा और चिपचिपा हो जाता है।

नुकसान

– एक्सपायर्ड मस्कारा और लाइनर लगाने से आंखों में जलन और इन्फेक्शन हो सकता है।

3. लूज पाउडर, ब्लश, आईशैडो 

शेल्फ लाइफ: लगभग 2 साल

एक्सपायर होने की पहचान

– इनसे एक अजीब सी बदबू आती है। 

– ब्लश हो या शैडो या लूज पाउडर, इनमें क्रैक्स आ जाते हैं।

नुकसान

– स्किन में एब्जॉर्ब नहीं होते। इनके इस्तेमाल से मुंहासों की प्रॉब्लम हो सकती है।

4. हेयर स्प्रे

शेल्फ लाइफ

खुलने से पहले: 3 साल

खुलने के बाद: 18 से 20 महीने

एक्सपायर होने की पहचान

– अप्लाई करने पर बाल अच्छे से सेट नहीं हो रहते और चिपचिपापन सा लगता है। 

नुकसान

– एक्सपायर हो चुके हेयर स्प्रे के इस्तेमाल से बालों के साथ ही साथ स्कैल्प को भी नुकसान पहुंचता है।

5. नेल पॉलिश

शेल्फ लाइफ

वाॅटर बेस्ड नेल पोलिश: 18-24 महीने

जेल बेस्ड नेल पोलिश: 24-36 महीने

एक्सपायर होने की पहचान

– सूख जाती है और गाढ़ी हो जाती है। 

नुकसान

– ठीक से अप्लाई नहीं होती और बहुत जल्दी निकल जाती है। 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com