Saturday , June 3 2023

डेली डाइट में हम कई प्रकार के मसालों का इस्तेमाल करते हैं। मसालों से न केवल खाने का ज़ायका बढ़ता है बल्कि शरीर का इम्यून सिस्टम भी मज़बूत होने लगता है। हल्के कसैले स्वाद के ये बारीक दाने अपनी खुशबु से खाने को महकाने का भी काम करते हैं। सर्दी जुकाम से लेकर पेट दर्द तक ही समस्या में कारगर साबित होने वाली अजवाइन एंटी ऑक्सीडेंटस से भरपूर है। आइए जानते हैं इसके फायदे और खाने में इस्तेमाल करने के तरीके

इस बारे में मनिपाल हास्पिटल गाज़ियाबाद में हेड ऑफ न्यूट्रीशन और डाइटेटिक्स डॉ अदिति शर्मा का कहना है कि अजवाइन गट फ्रेंडली होती है। ये एक तरह का सुपरफूड है, जो हमें गैस्ट्रिक ट्रबल में फायदा पहुंचाने का काम करती है। खाने में अजवाइन के दानों के साथ साथ अजवाइन की पत्तियों को भी प्रयेग करे। अधिकतर व्यंजनों में अजवाइन का इस्तेमाल होता है। सब्जियों में इसके पत्तों को भी प्रयोग कर सकते हैं। एंटी बैक्टिरियल गुणों से भरपूर अतवाइन पीरियड पेन के लिए भी कारगर उपाय है। इसके अ लावा पोस्ट डिलीवरी वेट रिडक्शन के लिए भी इसके पानी को पीने के लिए यूज किया जाता है।

100 ग्राम अजवाइन का पोषक मूल्य

कैलोरीज़ 305
सोडियम 10 मिली ग्राम
कार्ब्स 43 ग्राम
प्रोटीन 16 ग्राम
टोटल फैट 25 ग्राम है

इनहे ट्राई करे:

यहां जानिए अजवाइन से मिलने वाले फायदे

अनियमित पीरियड की समस्या को दूर करने के लिए दो चम्मच अजवाइन को एक गिलास पानी में उबाल लें। इसे तब तक उबालें, जब तक पानी का रंग परिवर्तित न हो। अब इसमें नमक को मिलाकर पी लें। इससे सेहत को काफी फायदा मिलता है।

ग्रे हेयर से मिलेगी राहत

इसके लिए एक गिलास पानी में अजवाइन, मुनक्के और करी लीव्स लेकर उबालें। अब इस पानी को सिप सिप कर दिनभर में पीते रहें। इससे समय से पहले ग्रे होने वाले बालों से मुक्ति मिलेगी। इसके अलावा बाल झड़ने की समस्या भी हल हो जाएगी।

खांसी जुकाम

अजवाइन से नोज़ ब्लाक होने की समस्या दूर हो जाती है। एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर अजवाइन को अगर आप गुनगुने पानी के साथ एक चम्मच खाती हैं, तो इससे आपके शरीर को राहत मिलेगी। इसके अलावा इसे चबाकर खाने से भी गले की खराश में राहत मिलती है। स्वाद में तीखी होने के कारण इसके सेवन के बाद पानी अवश्य पीएं।

वेटलॉस में मददगार

एक रिसर्च के मुताबिक नियमित रूप से सुबह खाली पेट अजवाइन के पानी का सेवन करने से आपको महीने में 1.2 किलो वजन कम करने में मदद मिल सकती है। डाइटरी गाइडलाइंस के मुताबिक इसे पीने के अलावा रेगुलर एक्सरसाइज़ करना भी आवश्यक है। दरअसल, अजवाइन फैट्स को जमा होने से रोकता है। इसी के चलते ये वजन कम करने में मदद करता है।

इन 3 तरीकों से करें अपनी रेगुलर डाइट में अजवाइन को शामिल

नींबू का अचार

मसाले के तौर पर इस्तेमाल होने वाली अजवाइन का प्रयोग नींबू के खट्टे मीठे अचार में किया जाता है। इससे अचार का स्वाद बढ़ता है और इसे खाने से पेट दर्द संबधी समस्याएं दूर होने लगती है। अपने बेहतरीन फ्लेवार के चलते इसे बिस्किटस और स्नैक्स में भी खूब इस्तेमाल किया जाता है।

अजवाइन का पानी

पेट संबधी समस्याओं से पीछा छुड़ाने के लिए एक गिलास पानी के साथ एक चम्मच अजवाइन को नमक के साथ मिलाकर खा सकते हैं। इसके अलावा एसिडिटी से बचने के लिए अजवाइन को पानी में उबालकर पीएं। आप चाहें, तो इसमें नमक एक चुटकी मिला सकते हैं।

अजवाइन के पानी में एक चुटकी हल्दी मिलाकर पीने से कोलेस्ट्रॉल की समस्या हल होने लगती है। इसके नियमित सेवन से फैटी लीवर की समस्या भी हल हो जाती है। अजवाइन के पानी में एक्टिव एंजाइम्स होने के चलते आपका शरीर गैस्ट्रिक जूस रिलीज करता है। इससे इनडाइजेशन और एसिडिटी की समस्या कम होने लगती है।

परांठों में करें प्रयोग

अगर आप एसिडिटी से परेशान है, तो व्यंजनों में खासतौर से अजवाइन को प्रयोग अवश्य करें। अजवाइन की गुडनेस को आप परांठे में भी एड कर सकते हैं। अगर आप कोई स्टफ परांठा बना रही हैं, तो उसके मिश्रण में अजवाइन को ज़रूर मिलाएं। इसके अलावा आप प्लेन परांठा बनाने के लिए आटे की लोई बना लें। उसके बाद उसको बेलकर घी और नमक लगाने के बाद चुटकी भर अजवाइन को बेली हुई रोटी पर फैला दें। परांठा तैयार करने के बाद आप उसे दही और मक्खन के साथ सर्व कर सकते हैं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com