Sunday , February 25 2024

तुलसी के मौसमी फ्लू से लेकर शरीर को डिटॉक्स करने तक है बेहद फायदे, यहां जानिए ..

भारत के लगभग हर घर में आपको तुलसी का पौधा मिल जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि यहां तुलसी का पौधा  की पूजा की जाती है। इसके अलावा तुलसी के सेवन के कई फायदे भी हैं, आयुर्वेद में इसका उपयोग कई बीमारियों और विकारों के इलाज के लिए किया जाता है। इसके अलावा रोज़ाना तुलसी का सेवन बंद नाक को खोल सकता है और एसीडिटी व तनाव को दूर करता है।

अगर आप भी काफी समय से तुलसी को अपनी लाइफस्टाइल में जोड़ना चाह रहे थे, तो इसकी शुरुआत आप सुबह खाली पेट तुलसी के पानी के साथ कर सकते हैं। तो आइए जानें इसके हैरान कर देने वाले फायदों के बारे में।

तुलसी के पानी के फायदे

  1. तुलसी के पानी का सबसे बड़ा फायदा यही है कि यह फौरन शरीर और अंगों को डिटॉक्स कर देता है।
  2. तुलसी का पानी दिल की सेहत के लिए अच्छा साबित होता है।
  3. इसका सेवन सीने की जलन और एसिड रीफल्क्स को कम करने में मदद करता है।
  4. तुलसी का पानी इम्यूनिटी बूस्ट करने का काम भी करता है, खासतौर पर फ्लू, खांसी और कोविड के डर के बीच यह फायदा कर सकता है।
  5. यह आम ज़ुकाम और फ्लू जैसे लक्षणों के इलाज में भी मदद करता है।
  6. तुलसी का पानी खांसी के इलाज और सांस से जुड़ी बीमारियों में राहत देता है।
  7. यह तनाव कम करने के साथ ब्लड प्रेशर को भी कम करता है।
  8. मुंह के छालों से परेशान हैं, तो तुलसी का पानी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

कैसे बनाएं तुलसी का पानी?

तुलसी का पानी तैयार करना बेहद आसान है। इसके लिए आपको चाहिए ताज़ा तुलसी के पत्ते। पत्तों को पानी में डालकर 15 मिनट के लिए हल्की आंच पर गर्म होने दें। इसके बाद इसे छानकर कप में डाल लें और धीरे-धीरे चुस्की लें। छनी हुई तुलसी की पत्तियों को फेंकने की ज़रूरत नहीं है। आप इसे खाने में डाल सकते हैं या फिर चाय में या फिर इसका फेस पैक बना सकते हैं।

त्वचा के लिए भी बेहतरीन होती है तुलसी

  • तुलसी के पानी का रोज़ाना सेवन एक्ने और पिंपल्स को दूर कर सकता है।
  • अगर आप एक्ने के दाग़ से परेशान हैं, तो इसके लिए तुलसी की पत्तियों का पेस्ट तैयार कर इसे दाग पर लगा सकती हैं। कुछ ही दिन में दाग हल्के होने शुरू हो जाएंगे।
  • सिर की त्वचा से जुड़ी दिक्कतों को भी दूर करती है तुलसी।
  • त्वचा पर चकत्ते और इंफेक्शन से लड़ने का भी काम करती है तुलसी।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com