Wednesday , July 24 2024

कुख्यात खालिस्तानी नेता हरदीप सिंह निज्जर कनाडा में ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के शहर में गोलीबारी में मारा गया

कुख्यात खालिस्तानी नेता और 10 लाख का इनामी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर कनाडा में एक गोलीबारी में मारा गया है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट है कि ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के सरे शहर में हुई गोलीबारी में निज्जर ढेर हुआ। निज्जर को भारत सरकार वंछित आतंकी घोषित कर चुकी थी। हाल ही में जारी की गई 40 आतंकवादियों की लिस्ट में निज्जर का नाम भी शामिल था। पिछले हफ्ते, खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (केएलएफ) के एक खालिस्तानी नेता अवतार सिंह खांडा की ब्रिटेन के एक अस्पताल में मौत हो गई थी।

घटनाक्रम से परिचित लोगों का कहना है कि आतंकवादी और कुख्यात खालिस्तानी नेता हरदीप सिंह निज्जर की ब्रिटिश कोलंबिया के सरे में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई है। कनाडा में खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) का नेतृत्व करने वाला निज्जर पंजाब में टारगेट किलिंग का आदेश देने के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, कनाडा में भारतीय मिशनों के बाहर प्रदर्शनों का आयोजन करने सहित भारत विरोधी अभियान में शामिल था।

दिसंबर 2020 में एनआईए ने दायर की चार्जशीट
मरने से पहले हरदीप सिंह निज्जर कनाडा में खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) का प्रमुख था। वह सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) के बैनर तले अन्य नामित आतंकवादियों – गुरपतवंत सिंह पन्नून और परमजीत सिंह पम्मा के साथ मिलकर भी काम कर रहा था, जिसे 2019 में गृह मंत्रालय बैन कर चुकी है। एनआईए ने दिसंबर 2020 में पन्नून, परमजीत सिंह पम्मा और हरदीप सिंह निज्जर के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी। जिसमें कहा गया कि एसएफजे, ‘मानवाधिकार समूह’ की आड़ में संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा जैसे देशों में भारत विरोधी अभियान चला रहा है। एसएफजे यूके, ऑस्ट्रेलिया और  पाकिस्तान सहित कई देशों से खालिस्तान आतंकवादी संगठनों का एक प्रमुख सक्रिय संगठन है। 

भारतीय उच्चायोगों के बाहर प्रदर्शन में संलिप्तता
पिछले हफ्ते, खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (केएलएफ) के एक खालिस्तानी नेता अवतार सिंह खांडा की ब्रिटेन के एक अस्पताल में मौत हो गई थी। खुफिया एजेंसियों के अनुसार, खांडा और निज्जर ने भारतीय उच्चायोगों के बाहर विरोध प्रदर्शन आयोजित करने के लिए मिलकर काम किया और भारत में आतंकवादी हमलों की साजिश रची।

एजेंसी के मुताबिक, “इस अभियान के तहत फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप, यूट्यूब चैनल और कई वेबसाइटों पर कई सोशल मीडिया अकाउंट लॉन्च किए गए। जिनका इस्तेमाल देश विरोधी अभियानों के साथ-साथ क्षेत्र और धर्म के आधार पर दुश्मनी फैलाने के लिए किया जा रहा है, ताकि प्रभावशाली युवाओं को कट्टरपंथी बनाया जा सके। संगठन का मुख्य उद्देश्य शांति और सद्भाव में खलल डालने और आतंकवादी गतिविधियों के लिए धन जुटाना है।

10 लाख का इनामी 
2022 में, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पंजाब के जालंधर में एक हिंदू पुजारी की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाने के बाद निज्जर पर 10 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। माना जाता है कि पुजारी की हत्या की साजिश खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) ने रची थी। निज्जर कनाडा में KTF का प्रमुख था।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com