Wednesday , July 24 2024

लोकसभा चुनाव को लेकर तैयारियां हुई शुरू, गोरखपुर में नौ जिलों के अधिकारियों का मैराथन प्रशिक्षण हो रहा

लोकसभा चुनाव 2024 में अभी भले ही समय हो लेकिन इसकी तैयारी समय से पहले शुरू हो चुकी है। आमतौर पर अक्टूबर व नवंबर में होने वाला अधिकारियों का विषय केंद्रित मैराथन प्रशिक्षण जून में ही शुरू हो गया है। छह दिन में से तीन दिन का प्रशिक्षण बीत चुका है। शनिवार को एनेक्सी भवन में गोरखपुर, महराजगंज, देवरिया, कुशीनगर, बस्ती, संतकबीर नगर, सिद्धार्थनगर, अयोध्या एवं अंबेडकरनगर के अपर जिलाधिकारियों को बुलाया गया था। प्रशिक्षण सुबह नौ से शाम छह बजे तक चल रहा है।

ऐसे चल रहा प्रशिक्षण का सिलसिला

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए अधिकारियों का यह प्रशिक्षण अक्टूबर, 2018 में शुरू हुआ था। इस बार प्रशिक्षण करीब चार महीने पहले हो रहा है। गोरखपुर में यह प्रशिक्षण छह, आठ, 10, 12, 14 एवं 16 जून को निर्धारित है। छह जून को नौ जिलों के मुख्य कोषाधिकारियों एवं वरिष्ठ कोषाधिकारियों का प्रशिक्षण हुआ है। इनके पास चुनाव में व्यय से जुड़ी जिम्मेदारी होती है। आठ जून को सभी जिलों के जिला विद्यालय निरीक्षकों (डीआइओएस) को बुलाया गया था। इनके पास सुव्यवस्थित मतदाता शिक्षा एवं निर्वाचक सहभागिता कार्यक्रम (एसवीईईपी-स्वीप) की जिम्मेदारी होगी और इसी के बारे में इन्हें प्रशिक्षित किया गया है।

10 जून को सभी जिलों के अपर जिलाधिकारी यानी उप जिला निर्वाचन अधिकारी प्रशिक्षण के लिए आए थे। इन्हें नामांकन पत्रों की वैधता एवं अवैध होने के बारे में प्रशिक्षित किया गया। नामांकन पत्रों की जांच, नाम वापस लेने एवं प्रतीक चिह्न आवंटन की भी जानकारी दी गई। 12 जून को सभी जिलों के जिला सूचना विज्ञान अधिकारी या सहायक जिला सूचना विज्ञान अधिकारी को बुलाया जाएगा। इनके पास आइटी से जुड़ी जिम्मेदारी होगी।

14 जून को जिलों में तैनात ईवीएम के नोडल अधिकारी व जिला निर्वाचन अधिकारी की ओर से नामित तकनीकी संस्थान के शिक्षक को प्रशिक्षित किया जाएगा। 16 जून को जिले में उप जिला निर्वाचन अधिकारी के अतिरिक्त तैनात अपर जिलाधिकारी, सिटी मजिस्ट्रेट या एसडीएम को प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया है। इन्हें जिला निर्वाचन प्रबंधन कार्ययोजना के बारे में जानकारी दी जाएगी। लोकसभा सामान्य निर्वाचन की शुरुआत माने जाने वाले इस प्रशिक्षण के करीब चार महीने पहले होने को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं। इस बात की भी चर्चा जोरों पर है कि आम चुनाव भी निर्धारित समय से पहले हो सकते हैं।

प्रदेश के इन जिलों में चल रहा प्रशिक्षण

गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर, आगरा, बरेली, मेरठ व बाराबंकी में अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। हर जिले में आसपास के जिलों के अधिकारियों को प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया है।

क्या कहते हैं अधिकारी

उप जिला निर्वाचन अधिकारी/अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेश कुमार सिंह ने बताया कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तर प्रदेश के निर्देश पर गोरखपुर में नौ जिलों के अधिकारियों का प्रशिक्षण कराया जा रहा है। छह दिनों तक प्रशिक्षण चलेगा। इसमें से छह, आठ व 10 जून का प्रशिक्षण हो चुका है। 12, 14 व 16 जून को भी प्रशिक्षण होगा।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com