Friday , January 27 2023

भारत ने दुनिया के सबसे बड़े मंच संयुक्त राष्ट्र संघ में पाकिस्तान की बोलती की बंद

India slammed Pakistan: भारत के अल्पसंख्यकों का हवाला देते हुए पाकिस्तान ने जब संयुक्त राष्ट्र में भारत पर निशाना लगाने की कोशिश की, तो उसे ऐसा मुंहतोड़ जवाब मिला जिससे पाकिस्तान की बोलती ही बंद हो गई.

India Reply To Pakistan: भारत ने एक बार फिर से दुनिया के सबसे बड़े मंच यानी संयुक्त राष्ट्र संघ में पाकिस्तान की बोलती  बंद कर दी है. ताजा मामले में यूएनईएस की बैठक में पाकिस्तानी विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो ने यह दावा किया था कि भारत, एक हिंदू राष्ट्र में बदल रहा है.

बिलावल को दो टूक जवाब, बंद हो गई पाकिस्तान की बोलती’

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में पाकिस्तान ने अल्पसंख्यकों का हवाला देते हुए भारत को घेरने की कोशिश की लेकिन वहां पर मौजूद UNES के ज्वाइंट सेक्रेटरी श्रीनिवास गोत्रू ने पलटवार करते हुए उसकी बोलती बंद कर दी. जब भुट्टो ने कहा था कि मुसलमानों (Muslims) के खिलाफ नफरत की विचारधारा से प्रेरित देश की सत्ता में बैठी बीजेपी (BJP) और RSS का भारत की इस्लामी विरासत खत्म करने के लिए काम कर रहे हैं, तो जवाब में भारत ने कहा, ‘ये बड़ी विडंबना है कि पाकिस्तान अल्पसंख्यकों को लेकर लेक्चर देते हुए मेरे देश का नाम ले रहा है जबकि दुनिया अच्छी तरह जानती है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक चाहे हिंदू (Hindu) हो या इसाई या फिर कोई और उनके साथ किस तरह भेदभाव और उत्पीड़न किया जाता है. पाकिस्तान में अल्पसंख्यों के अधिकारों का हनन लंबे समय से चला आ रहा है और इसका एक लंबा इतिहास है, जिसे पूरी दुनिया ने देखा भी है.’ 

PAK में ऐसी है अल्पसंख्यकों की हालत

श्रीनिवास गोत्रू ने पाकिस्तान को पूरी दुनिया के सामने फटकार लगाते हुए कहा, ‘पाकिस्तान ने अल्पसंख्यकों को लगभग खत्म ही कर दिया है. पाकिस्तान लगातार हिंदुओं, सिखों, ईसाइयों और अहमदिया मुसलमानों का उत्पीड़न करते हुए उनके मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है. पाकिस्तान में हजारों महिलाओं और बच्चों, खासतौर से अल्पसंख्यक समुदाय की हिंदू लड़कियों को अगवा करके जबरन उनक धर्म परिवर्तन करवाने के बाद उनकी शादी करवा दी जाती है. विरोध करने पर उन्हें पीटा जाता है और पुलिस और कानून भी उनकी कोई मदद नहीं करता.’

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com