Thursday , April 18 2024

ईडी ने तीन अलग-अलग कथित घोटालों के सिलसिले में देश के विभिन्न हिस्सों में मारे छापे….

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को तीन अलग-अलग कथित घोटालों के सिलसिले में देश के विभिन्न हिस्सों में छापे मारे। दिलचस्प बात यह है कि तीनों मामलों में विपक्षी दलों के सांसदों और मंत्रियों पर कथित तौर पर वित्तीय अनियमितताओं का आरोप लगाया गया है। ईडी ने नेशनल हेराल्ड मामले के सिलसिले में राष्ट्रीय राजधानी और 12 अन्य स्थानों पर छापे मारे, जिसमें कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी , पार्टी नेता राहुल गांधी और अन्य पर मानदंडों का उल्लंघन करने का आरोप है। नेशनल हेराल्ड मामला धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत कथित वित्तीय अनियमितताओं से संबंधित है और लगभग 9 महीने पहले दर्ज किया गया था।

2013 में पार्टी (बीजेपी) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अदालत का दरवाजा खटखटाया था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) की संपत्ति, जिसने नेशनल हेराल्ड अखबार प्रकाशित किया था, धोखाधड़ी से हासिल की गई और यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड (वाईआईएल) को हस्तांतरित कर दी गई। जिसमें कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी के पास 38-38 प्रतिशत शेयर थे। स्वामी ने आरोप लगाया था कि गांधी परिवार ने धोखाधड़ी की और धन का दुरुपयोग किया, YIL ने केवल 50 लाख रुपये का भुगतान करके 90.25 करोड़ रुपये की वसूली का अधिकार प्राप्त किया, जो कि AJL पर कांग्रेस का बकाया था।

ईडी ने मुंबई में दो अलग-अलग ठिकानों पर की छापेमारी

एक अन्य मामले की जांच एजेंसी कर रही है जिसमें शिवसेना नेता संजय राउत शामिल हैं, जिन्हें पात्रा चाल घोटाले के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है। ईडी ने मुंबई में दो अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की। संजय राउत वर्तमान में मुंबई के गोरेगांव इलाके में एक चाल पुनर्विकास परियोजना में अनियमितताओं से संबंधित मनी लान्ड्रिंग मामले में ईडी की हिरासत में हैं।

उन्हें चार अगस्त तक प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में भेज दिया गया है। वकोला पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 504, 506 और 509 के तहत मामला दर्ज किया गया था। एक आडियो क्लिप वायरल हुई थी जिसमें राउत को कथित तौर पर स्वप्ना पाटकर को धमकी देते हुए सुना गया था। गौरतलब है कि स्वप्ना पाटकर पात्रा चाल जमीन मामले की गवाह हैं, जिसके सिलसिले में ईडी ने राउत को हिरासत में लिया था।

ईडी ने कोलकाता में फोर्ट ओएसिस अपार्टमेंट में एक फ्लैट को किया सील

पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी से जुड़ा एक और हाई-प्रोफाइल मामला जिसमें ईडी ने मंत्री के करीबी अरिप्त मुखर्जी के घर से लगभग 50 करोड़ रुपये बरामद किए। ईडी के अधिकारियों ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल के कोलकाता में फोर्ट ओएसिस अपार्टमेंट में एक फ्लैट को सील कर दिया, जो पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग(एसएससी) घोटाले के संबंध में एक स्मिता झुनझुनवाला का है, जिसमें पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री को ईडी गिरफ्तार किया है। पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी के बाद पूर्व शिक्षा मंत्री की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के कोलकाता आवास से करोड़ों की नकदी और आभूषण बरामद हुए।

ईडी ने कई आय से अधिक संपत्ति का खुलासा किया, जो आरोप लगाया गया था कि चटर्जी से जुड़ी थीं। हालांकि, चटर्जी ने स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) घोटाले में अपनी संलिप्तता से इनकार किया था और कहा था कि “पैसा उनका नहीं है”। उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा, “समय आने पर आपको पता चल जाएगा पैसा मेरा नहीं है।” गिरफ्तार बंगाल मंत्री पार्थ चटर्जी जिन्हें अब तृणमूल कांग्रेस से निलंबित कर दिया गया है और उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी अलग-अलग दावा कर रही हैं कि वे “एक साजिश के शिकार हैं।” तृणमूल कांग्रेस, जिसने चटर्जी से दूरी बना ली है और उन्हें मंत्री पद से हटा कर पार्टी से निलंबित कर दिया है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com