Saturday , February 4 2023

कराची में रिकार्ड तोड़ बारिश से सिध सरकार के दावों की खुली पोल, पांच लोगों की गई जान

कराची, पाकिस्तान के कराची में रिकार्ड तोड़ बारिश ने शहर की जल निकासी व्यवस्था और सिध सरकार के दावों की पोल खोल कर रख दी है। बारिश से कई इलाकों में पानी भर गया है। पांच लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। डीएचए और क्लिफ्टन सहित कराची के पाश इलाके भारी बारिश के कारण जलमग्न हो गए हैं। बारिश का पानी लोगों के घरों में घुस गया है। लोग ईद भी ठीक से नहीं मना पाए। लापरवाही बरतने को लेकर अधिकारियों को फटकार लगाई गई है।

एक्यूएम-पी ने की सिंध सरकार की आलोचना

एक्यूएम-पी ने लगातार भारी बारिश के बीच सिंध सरकार की असफलता को लेकर उसकी आलोचना की है। बयान में कहा गया है, ‘बारिश ने एक बार फिर कराची के बुनियादी ढांचे की स्थिति को उजागर कर दिया है। शहर की सीवरेज प्रणाली चोक हो गई है। सरकार की अक्षमता के कारण नागरिक पीड़ित हैं।’एक्यूएम-पी शहबाज शरीफ के नेतृत्व वाली पाकिस्तान सरकार में एक प्रमुख गठबंधन सहयोगी है।

  • मूसलाधार बारिश की वजह से सड़कें जलमग्न हो गई हैं।
  • यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है।
  • कोरंगी काजवे रोड पर रात भर हुई बारिश के बाद पानी का बहाव बढ़ गया है।

बिजली की आपूर्ति हुई बाधित

पानी के संचय के कारण बिजली भी गुल हो गई है। क्योंकि उन जगहों पर पानी जमा होने के कारण 500 फीडर बंद हो गए थे। महानगर को 1,900 बिजली फीडरों में से 1,400 से बिजली प्रदान की गई थी। पावर यूटिलिटी के ने कहा कि फीडरों को ‘सुरक्षा और तकनीकी कारणों से’ बंद कर दिया गया है। एक बार क्षेत्रों से पानी निकल जाने के बाद बिजली की आपूर्ति फिर से शुरू हो जाएगी। गुलशन-ए-इकबाल, सुरजानी, बलदिया, बिन कासिम और कुछ अन्य शहरों की बिजली प्रभावित हुई है।

  • देश भर में बार-बार लोड-शेडिंग ने लोगों को उच्च तापमान में बेहाल कर दिया है।
  • शहबाज शरीफ सरकार ने ऊर्जा की कमी के लिए पूर्व की पीटीआई सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।
  • बिजली की आपूर्ति और मांग के बीच की कमी को कम करने के लिए कई उपाय किए गए हैं।
  • पाकिस्तान के कई संघीय मंत्रियों ने व्यापारियों से ईंधन और बिजली की बर्बादी को कम करने के लिए जरूरी उपायों को अपनाने का आग्रह किया है।

दरअसल, पाकिस्तान बड़े पैमाने पर बढ़ते ऊर्जा संकट का सामना कर रहा है। चीन की बिजली आपूर्ति का भुगतान करने में पाकिस्तान की असमर्थता के कारण देश इस बिजली की कमी कासामना कर रहा है। लोग भीषण गर्मी से बेहाल हैं।

बिजली के दरों में इजाफा

पाकिस्तान सरकार ने हाल ही में लोगों की परेशानी को बढ़ाते हुए बिजली की दरें बढ़ाने का फैसला किया है। बढ़ती महंगाई और बिगड़ती अर्थव्यवस्था के बोझ तले दबी पाकिस्तानी जनता बुनियादी बिजली दरों में 7.9 रुपये प्रति यूनिट की बढ़ोतरी से हैरान है। वर्तमान में बिजली की मूल दर 16.91 रुपये प्रति यूनिट है और 7.9078 रुपये प्रति यूनिट की वृद्धि के साथ यह 24 रुपये प्रति यूनिट से अधिक हो जाएगी।

पीएम शरीफ ने लोगों की मौत पर व्यक्त किया शोक

कराची में बारिश से मची तबाही के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह को फोन कर लोगों की मौत पर दुख व्यक्त किया और प्रांतीय सरकार को हर संभव मदद की पेश की। द न्यूज इंटरनेशनल के अनुसार, प्रधानमंत्री ने प्रांतीय सरकारों और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) को सार्वजनिक सुरक्षा सुनिश्चित करने और प्रभावित लोगों के पुनर्वास के लिए समन्वित प्रयास करने का निर्देश दिया है क्योंकि देश के कुछ हिस्सों में मानसूनी बारिश हुई थी।

बलूचिस्तान में औसत से अधिक बारिश

पाकिस्तान मौसम विज्ञान विभाग (पीएमडी) के एक अधिकारी ने कहा कि इस साल की मानसून प्रणाली ने बलूचिस्तान में औसत से अधिक बारिश की है, जबकि कराची में मानसून का औसत 141 मिमी था।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com